भविष्य में आने वाली कुछ अनोखी तकनीक(Upcoming unique technology in future)

अगर हम सोचे कि हमे आज फिल्म देखना है, पर स्क्रिन फिल्म हाॅल जैसा हो, तो इसमे कोई आश्चर्य कि बात नही है। क्योकि अब हम वास्तविक या आभासी तकनीक कि मद्द से एसा कर सकते है। एसे कुछ नई तकनीक जो भविष्य आने वाली है उसके बारे मे आज जानेंगे।

लीप मोशन तकनीक

लीप मोशन एक ऐसा अभासी तकनीक है जो, हमारे हाथ को दुनिया की अग्रणी आभासी स्पर्श तकनीक अल्ट्राहैप्टिक्स के साथ एक साथ लाता है। और हम यह महसुस कर सकते है कि यह हमारे असल जिंदगी मे हो रहे है।

लीप मोशन की प्राकृतिक और सहज तकनीक का उपयोग दुनिया भर में 300,000 से अधिक डेवलपर्स द्वारा किया जा रहा है, एसा कंपनी का मान्ना है ताकि लोगों के रहने, काम करने और खेलने के लिए नई वास्तविकताओं का निर्माण किया जा सके। यह एक आधुनीक तकनीक होगा आने वाले समय के लिए।

गुगल ग्लास

यह ग्लास एक छोटा, हल्का पहनने योग्य कंप्यूटर है जिसमें हाथों से मुक्त कार्य के लिए पारदर्शी डिस्प्ले है। हलांकि यह ज्य्दा प्रचलित नही हुआ है। आखरी बार इसे मई 2019 को अपग्रेड किया गया, परन्तु आने वाली भविष्य मे एक कारगर तकनीक बन सकती है।

आगामी ऑटोमोटिव तकनीक( car technology)

ऑटोमोबाइल, जो किसी के लिए भी उपलब्ध हैं, ने सामाजिक वर्ग भेद, विस्तारित बाजारों को धुंधला कर दिया है और अर्थव्यवस्था को उत्तेजित किया है। उद्योग सीधे 2.6 मिलियन से अधिक लोगों को रोजगार देता है और, ऑटो एलायंस के अनुसार, देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3% से 3.5% के लिए जिम्मेदार है। आने वाले वक्त मे कार नकनीक और भी बेहतर होगी जैसे
संवर्धित नियंत्रण, संवर्धित वास्तविकता हेड-अप डिस्प्ले, एप्लिकेशन और फर्मवेयर अपडेट, वाहनों के बीच संचार, स्मार्ट फ्यूल सेविंग टिप्स, स्मार्ट फोन के साथ संप्रक, एकीकरण, दीर्घकालिक विकास (LTE), यह कार बेहतर होगी आज के कारो कि तुलना मे, और A.I तकनीक से लैस होगी जो खुद को समझ कर कोई आपत्ति आने पर इंसानो को बता पाए।

Future car

क्वांटम कम्प्यूटिंग

यह भविष्य की ऐसी तकनीक है जो पुरी भविष्य को बदल सकता है जिसकी हम कलपना भी नही कर सकते, एसा माना जा रहा है। यह भविष्य कि ऐसी तकनीक होगी जो एक सधारण कम्पयुटर से हजारो से लाखो गुणा ज्यादा तेजी से काम करने की क्षमता होगी।

इसकी काम करने कि क्षमता बिलकुल अलग है, जैसे एक पारंपरिक कंप्यूटर bit लॉन्ग बिट ’का उपयोग करता है, सूचना की एक बुनियादी इकाई, जिसमें of 0’ या 1 ’का एकल बाइनरी मूल्य होता है। इसके विपरीत क्वांटम कंप्यूटर में क्वैब का उपयोग होता है, जो एक ही समय में या तो मान या दोनों मानों को पकड़ सकता है। यह क्वांटम भौतिकी घटना के कारण ‘सुपरपोजिशन’ के रूप में जाना जाता है। सुपरपोज़िशन तब होता है जब एक उप-परमाणु कण के दो या अधिक क्वांटम स्टेट, जैसे कि-स्पिन-अप ’और’ स्पिन-डाउन ’के स्पिन स्टेट, एक ही समय में आयोजित किए जाते हैं। क्वांटम कंप्यूटिंग के प्रयोजनों के लिए, सुपरपोजिशन की व्याख्या एक क्वेट के रूप में की जा सकती है, जो um 0 ‘और’ 1 ‘दोनों के रूप में होती है।

Quantam computer

कई स्टेट में मौजूद उप-परमाणु कणों का उपयोग पारंपरिक कंप्यूटरों की तुलना में कम ऊर्जा का उपयोग करके कंप्यूटिंग को बहुत तेजी से करने की अनुमति देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *