मोबाइल तकनीक(about mobile technology)-II

Note:- पिछला भाग मे हम पढ़ चुके है उसकि शुरूआत के बारे मे अगर आप ने नही पढ़ा है तो कृप्या उसे पहले पढ़ ले।

मोबाइल तकनीक सेलुलर संचार के लिए उपयोग की जाने वाली तकनीक है जो भारत मे इसकि शुरूआत 1800 ई मध्य मे ही हो चुका था परन्तु यह सधारण लोगो तक पहुचने काफि वक्त लगा । इस 21 वीं सहस्राब्दी की शुरुआत के बाद से, एक मानक मोबाइल डिवाइस एक साधारण दो-तरफा पेजर से बढ़कर एक मोबाइल फोन, जीपीएस नेविगेशन डिवाइस, एक एम्बेडेड वेब ब्राउज़र और इंस्टेंट मैसेजिंग क्लाइंट, और एक हैंडहेल्ड गेमिंग कंसोल है।  कई विशेषज्ञों का मानना ​​है कि कंप्यूटर प्रौद्योगिकी का भविष्य वायरलेस नेटवर्किंग के साथ मोबाइल कंप्यूटिंग में टिकी हुई है।  टैबलेट कंप्यूटर के माध्यम से मोबाइल कंप्यूटिंग अधिक लोकप्रिय हो रही है।

उसके बाद वक्त के साथ साथ उसमे बदलाव किए गए पहले फोन मे डायलर का प्रयोग करते थे उसके बाद 1991 में, 2 जी का विकास हुआ जिसमे  लघु संदेश सेवा (एसएमएस) और मल्टीमीडिया मैसेजिंग सेवा (एमएमएस) क्षमताओं को पेश किया गया, जिससे तस्वीर संदेश फोन के बीच भेजे जा सकते थे और प्राप्त किए जा सकते थे । और कुछ सालो बाद 1998 में, 3 जी को वीडियो कॉलिंग और इंटरनेट एक्सेस का समर्थन करने के लिए तेजी से डेटा-ट्रांसमिशन गति प्रदान करने के लिए पेश किया गया था परन्तु इसे पुरी भारत मे लागु होने मे काफि वक्त लगा। उसके बाद डिजीटल सेवाओं, गेमिंग सेवाओं, एचडी मोबाइल टीवी, वीडियो काॅलिग और 3 डी टीवी जैसी अधिक मांग वाली सेवाओं का समर्थन करने के लिए 2008 में 4 जी जारी किया गया था इसे भारत मे भारत मे लागु होने मे वक्त लगा था ।
अब यह वर्तमान मुख्यधारा सेल्युलर सेवा है जो सेल फोन उपयोगकर्ताओं को दी जाती है, प्रदर्शन 3 जी सेवा की तुलना में लगभग 10 गुना तेज है एसा कहा जाता है। 
आगामी भविष्य के लिए 5 जी तकनीक की योजना बनाई जा रही और यह जल्द ही आने वाली है।

अगर ऑपरेटिंग सिस्टम की बात करे तो यह भी चलते दौर के साथ बदलते गए। पहले सिम्बिपह ऑपरेटिंग सिस्टम आया उसके बाद, एंड्रॉइड, ब्लैकबेरी ओएस, वेबओएस, आईओएस, विंडोज मोबाइल प्रोफेशनल (टच स्क्रीन), विंडोज मोबाइल स्टैंडर्ड (नॉन-टच स्क्रीन), और बाडा सहित कई प्रकार के मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम (ओएस) स्मार्टफोन के लिए उपलब्ध होने लगे। सबसे लोकप्रिय हैं Apple iPhone, और सबसे नया: Android।  एंड्रॉइड, Google द्वारा विकसित एक मोबाइल ओलग है,जो पूरी तरह  तरह से ओपन-सोर्स मोबाइल ओएस है, जिसका अर्थ है कि यह किसी भी सेल फोन मोबाइल नेटवर्क के लिए मुफ्त है।

2008 के बाद से अनुकूलन योग्य ओएस उपयोगकर्ता को गेम, जीपीएस, उपयोगिताओं और अन्य उपकरणों जैसे एप्लिकेशन डाउनलोड करने की अनुमति देते लगे।  उपयोगकर्ता अपने स्वयं के ऐप भी बना सकते हैं और उन्हें प्रकाशित कर सकते हैं,  वेबओएस का उपयोग करने वाली पाम(palm) प्री में इंटरनेट पर कार्यक्षमता है और इंटरनेट आधारित प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे कैस्केडिंग स्टाइल शीट्स (सीएसएस), एचटीएमएल और जावास्क्रिप्ट का समर्थन कर सकती है।

mobile technology

हमारे दैनीक जीवन मे प्रभाव

मोबाइल प्रौद्योगिकी के बढ़ते उपयोग ने लगातार लोगो के जिन्दगी को बदल रहा है और हम यह देख रहे हैं आधुनिक परिवार कैसे प्रौद्योगिकी के माध्यम से एक दूसरे के साथ बातचीत करते हैं।  मोबाइल उपकरणों के उदय के साथ, परिवार तेजी से “आगे बढ़ रहे हैं। और एक अधिक डिजिटलीकृत संस्करण में विकसित हो रहे हैं।  एक अध्ययन से पता चला है कि आधुनिक परिवार वास्तव में मोबाइल मीडिया के उपयोग के साथ बेहतर सीखते हैं,और बच्चे अधिक प्रत्यक्ष दृष्टिकोण की तुलना में डिजिटल माध्यम से अपने माता-पिता के साथ सहयोग करने के लिए अधिक इच्छुक हो रहे हैं।  उदाहरण के लिए, परिवार के सदस्य मोबाइल उपकरणों के माध्यम से लेखों या ऑनलाइन वीडियो से जानकारी साझा कर सकते हैं और इस प्रकार व्यस्त दिन के दौरान एक दूसरे के साथ जुड़े रह सकते हैं। हालांकि इसके कुछ अवगुण भी है मोबाइल के गलत उपयोग से हमारे सोचने कि दिशा मे भी बदलाव हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *