5G मोबाइल नेटवर्क(5G mobile network)

जैसा कि हमे इसके नाम से ही पता चलता है कि, यह 5 वीं पीढ़ी सेलुलर नेटवर्क तकनीक है। 5G आने के बाद संचार के क्षेत्र को और अधिक बेहतर बनाया जा सकता है हमारे मशीन जो इनटरनेट के साथ जुड़ कर कार्य करते हे और बेहतर होंगे।

5 जी यह एक डिजिटल सेलुलर नेटवर्क हैं, यह तकनीक आने के बाद ध्वनियों और चित्रों का प्रतिनिधित्व करने वाले एनालॉग सिग्नल को फोन में डिजिटल रूप दिया जाएगा, एनालॉग से डिजिटल कनवर्टर में परिवर्तित किया जाएगा, और बिट्स की एक धारा के रूप में प्रेषित किया जाएगा। इससे हानिकारक रेडिएसन के प्रभाव थोड़े से कम होंगे।

5G के लिए मिलीमीटर तरंगों का उपयोग करने की योजना है। मिलीमीटर तरंगों में माइक्रोवेव की तुलना में उसकी सीमा छोटी होती है, इसलिए सेल छोटे आकार तक सीमित होती हैं; 

5g network

यह तरंगे दीवारों के निर्माण से गुजरने में लहरों को भी परेशानी होती है। मिलीमीटर वेव एंटेना पिछले सेलुलर नेटवर्क जैसे 3G, 4G में उपयोग किए जाने वाले बड़े एंटेना से छोटे हैं। उन पर इस्तेमाल होने वाली सेल केवल कुछ इंच (कई सेंटीमीटर) लंबे होते हैं।  हलांकि डेटा दर को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एक और तकनीक बड़े पैमाने पर है और वह MIMO (मल्टीपल-इनपुट मल्टीपल-आउटपुट) तकनीक है। जिसमे प्रत्येक सेल में वायरलेस डिवाइस के साथ संचार करने वाले कई एंटेना होंगे, जो डिवाइस में कई एंटेना द्वारा प्राप्त किए जाते हैं, इस प्रकार डेटा के कई बिटस्ट्रीम एक साथ, समानांतर में प्रसारित किए जाएंगे।  जिसमे बेस स्टेशन कंप्यूटर को बीमफॉर्म करने वाली तकनीक में, प्रत्येक वायरलेस डिवाइस तक पहुंचने के लिए रेडियो तरंगों के लिए सर्वोत्तम मार्ग की निरंतर गणना करेगा, और डिवाइस तक पहुंचने के लिए मिलीमीटर तरंगों के बीम बनाने के लिए चरणबद्ध सरणियों के रूप में एक साथ काम करने के लिए कई एंटेना का आयोजन करेगा।

एसा अंदेशा है कि नए 5G वायरलेस उपकरणों में 4G LTE क्षमता भी होगी है, क्योंकि नए नेटवर्क सेल के साथ संबंध स्थापित करने के लिए 4 जी का उपयोग करते हैं, साथ ही उन स्थानों पर भी जहां 5G की सुविधा उपलब्ध नहीं होगी।  5G दस लाख डिवाइस प्रति वर्ग किलोमीटर तक का समर्थन कर सकता है, जबकि 4G केवल 100,000 डिवाइस प्रति वर्ग किलोमीटर का समर्थन करता है।

इसकी गति के बारे मे अगर कहा जाए तो उप -6 गीगाहर्ट्ज बैंड में 5G NR की गति स्पेक्ट्रम और एंटेना की समान मात्रा के साथ 4 जी से थोड़ी अधिक हो सकती है, हालांकि कुछ 3GPP 5G नेटवर्क कुछ उन्नत 4G नेटवर्क की तुलना में धीमे होंगे, लेकिन 5G में LAA ( License Assisted Access)का अभी तक प्रदर्शन नहीं किया गया है।  मौजूदा 4G कॉन्फ़िगरेशन में LAA(License Assisted Access)को जोड़ने से प्रति सेकंड सैकड़ों मेगाबिट्स को गति में जोड़ा जा सकता है, लेकिन यह 4 जी का विस्तार है, न कि 5 जी मानक का एक नया भाग।
LAA(License Assisted Access) 4G का उच्च भाग है जो अनलाइसेंस तकनीक से बेहतर है जो बेहतर गती देने का दावा करती है।

Galaxy s10

दुनिया का पहला स्मार्टफोन सैमसंग गैलेक्सी S10 5G
है जो 5G नेटवर्क से कनेक्ट करने में सक्षम है। यह फोन 8 मार्च 2019 को लाया गया।
मार्च 2019 में, ग्लोबल मोबाइल सप्लायर्स एसोसिएशन ने दुनिया भर में 5 जी डिवाइस लॉन्च करने वाले उद्योग के पहले डेटाबेस को जारी किया। शायद आने वाले वक्त मे जल्द ही हम 5G तकनीक से जुड़ पाएगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *